-----कल के उत्तम भविष्य के लिए आज बिजली बचायें ----- उपकरणों के उपभोग के बाद तुरन्त बन्द कर दें ----- आग लगे भवन की बिजली तुरन्त बन्द कर दें ----- अधिक क्षमता वाले बल्बों के स्थान पर कम क्षमता वाले बल्बों का उपयोग करें ----- कम्पैक्ट-लोरेसेन्ट का प्रयोग करें ----- जीवन्त अधिष्ठापन पर कदापि कार्य न करें, बल्कि अधिष्ठापन की बिजली बन्द करके ही कार्य करें ----- एयर कण्डीशन का कम से कम उपयोग करें -----
क्या न करें:

1. बिजली दिखती नहीं है। टूटे हुए तथा लटकते हुए बिजली के तार को न छुऐं। इसमें बिजली हो सकती है तथा आप दुर्धटना के शिकार हो सकते है।

2. बिजली के पोल या स्टेवायर को न छुयें। इसमें बिजली हो सकती है या अकस्मात बिजली आ सकती है तथा आप दुर्घटनाग्रस्त हो सकते है।

 

3. बिजली लाईन के पोल के पास अपने जानवरों को न बांधें या इनमें अपने जानवरों को शरीर न रगड़ने दें। इनमें बिजली हो सकती है या अकस्मात बिजली आ सकती है तथा आपके जानवर की मृत्यु हो सकती है।

4. बिजली एक आज्ञाकारी दास के साथ निर्दयी स्वामी भी है। अतः कृपया इससे छेड़-छाड़ या खिलवाड़ न करें। ऐसा करना घातक हो सकता है।

5. बिजली लाईन के नीचे या उसके पास ऐसा कोई मकान न बनायें, जिससे लाईन के तारों की दूरी निर्धारित सुरक्षित दूरी से कम हो जाये। क्योंकि इससे कभी भी अप्रिय दुर्घटना हो सकती है।

6. आपदा बता कर नहीं आती। बिजली लाईन के नीचे या उसके पास अपना खलिहान न रखें तथा घर एवं झोपड़ी आदि न बनायें। इससे खलिहान/झोपडी आदि में आग लग सकती है।

7. बिजली के तारों तथा डोरी आदि के पास लोहे की अरगनी को न बांधें, इसमें बिजली आ सकती है तथा दुर्घटना हो सकती है।

8. बिजली लाईन के नीचे या पास में हैन्ड पम्प, न लगायें। पाईप आदि लाईन के तार से छू सकता है तथा दुर्घटना हो सकती है।

9. बिजली लाईन के नीचे या पास में बस, ट्रक या ट्राली आदि को खड़ा न करें। उसके ऊपर से सामान आदि न उतारें। लाईल के तार से सम्पर्क, स्पार्किंग, फ्लैश ओवर आदि को सकता है जिससे भयंकर दुर्घटना हो सकती है।

10. चालू लाईन के नीचे से लम्बी/ऊँची ताजिया, रथ, पाईप या सरिया आदि न निकालें। इससे तार छू सकता है तथा दुर्घटना हो सकती है।

11. लाईन के लटकते हुए तार के नीचे से निकलने का प्रयास न करें। आप तार से छू सकते हैं तथा दुर्घटना हो सकती है।

12. अस्थाई रूप से तार/डोरी खींचकर बिजली का इस्तेमाल न करें। यह असुरक्षित है तथा दुर्घटना हो सकती है।

13. बिजली लाईन के तार टूटने, उसके लटके होने, लड़की के क्रास-आर्न के टूटने तथा पोल के झुकने आदि की सूचना शीघ्र से शीघ्र निकटतम बिजलीघर/सप्लायर को दें।

14. यदि किसी को बिजली पकड़ लें तो उसे सीधे कदापि न छुऐं, इससे आपकी भी दुर्घटना हो सकती है। अतः ऐसे व्यक्ति को सूखी रस्सी, लड़की, डण्डा या कपड़े से ही अलग करें।

15. आग लगे भवन की बिजली तुरन्त बन्द कर दें।

16. बिजली से लगी हुई आग पर पानी कदापि न डालें। ऐसा करना खतरनाक है।

17. बिजली से लगी आग को बुझाने के लिए सूखे बालू (रेंत) तथा बिजली का फायर इक्सटिंग्यूशर का प्रयोग करें तथा निकटतम फायर स्टेशन को सूचना दें।

18. जीवन्त अधिष्ठापन पर कार्य न करें। बल्कि अधिष्ठापन की बिजली बन्द करने के बाद कार्य करें।

19. बिजली कार्य इन्सुलेटिंग प्लेटफार्म जैसे रबर की चटाई, सूखी लकड़ी का तख्ता आदि पर खड़े होकर ही करें, इससे आपकी सुरक्षा बनी रहती है।

20. कृपया बिजली की चोरी न करें। यह एक सामाजिक तथा कानूनी अपराध है। आप जैसे सम्मनित नागरिक से ऐसे अशोभनीय कार्य की अपेक्षा नहीं की जा सकती है।

21. विद्युत लाईन या उपकरणों पर कार्य सुरक्षा साधनों जैसे ग्लब्स, रबड़ के जूते, सेफ्टी बेल्ट्स, सीढ़ी, अर्थिंग डिवाईस, लाईन डिवाईस, लाईन टेस्टर, इंसुलेटेड प्लास तथा हैण्ड लाइन्स आदि का प्रयोग करके ही करें, इससे आपकी सुरक्षा बनी रहती है।

22. विद्युत लाइन तथा ट्रान्सफारमी पर अनाधिकृत व्यक्ति द्वारा कार्य नहीं किया जाना चाहिए बल्कि अधिकृत व्यक्ति से ही कार्य करवाना चाहिए।

23. घायल करे मतृक न समझें। उसको तुरन्त कृत्रित स्वांस दें एवं उसका प्राथमिक उपचार करें तथा डाक्टर को बुलवायें।

24. अचेत व्यक्ति को कुछ न पिलायें। इससे नुकसान हो सकता है।

25. लकड़ी के पोल क्रास-आर्म की समय-समय पर जांच करवायें। कमजोर तथा सड़े हुए पोल तथा क्रास-आर्म को तुरन्त बदलवा देवें, अन्यथा इससे जान-माल की क्षति हो सकती है।

26. बिजली से सम्बन्धित किसी भी कठनाई के निवारण हेतु बिना किसी संकोच के विद्युत सुरक्षा निदे्यालय से सम्पर्क करें। हम आपकी सहायता के लिए सदैव तत्पर एवं वचनबद्ध हैं।